दुआ ए कुनूत

dua e qunoot

दुआ ए कुनूत

अल्ला हुम्मा इन्ना नस्ता इनुका व नस्तग्फ़िरुका वनु मेनू बेका व नतावक्कलु अलयका वनुस नी अल्य कल् ख्या वन्श कुरुका व्ला नक फुरुका व नखलऊ व नत रूकू मय्यत जुरुका अल्ला हुम्मा इय्याका न अ बुदू वल का नुसल्ली वन्सजुदु व इ लइका न स आ वन्ह फ़ेदु व नर जूरह म त का व न ख सा अ ज़ाब क़ा इन्ना अ ज़ाब क़ा बिल कुफ़्फ़ा रे मुल हिक

तर्जुमाः इलाही हम तुझसे मदद मांगते हैं और मगफ़िरत चाहते हैं और तुझ पर ईमान लाते हैं और तुझ पर तवक्कुल करते हैं और हर भलाई के साथ तेरी सना करते हैं और हम तेरा शुक्र करते हैं नाशुक्री नहीं करते और हम जुदा होते हैं और उस शख़्स को छोड़ते हैं जो तेरा गुनाह करे। ऐ अल्लाह हम तेरी ही इबादत करते हैं और तेरे लिए ही नमाज़ पढ़ते हैं और सजदा करते हैं और तेरी ही तरफ़ दौड़ते और सई करते हैं और तेरी रहमत के उम्मीदवार हैं और तेरे अज़ाब से डरते हैं। बेशक तेरा अज़ाब काफ़िरों को पहुँचने वाला है। 

अगर दुआए कुनूत याद न हो तो यह दुआ पढ़ें

रब्बना आतिना फिद् दुन्या ह-स-न तंत्-व फ़िल आख़ि-र-ति ह-स-न-तंव-व क़िना अज़ाबन्नार०

तर्जुमा: ऐ रब! दे मुझको नेकी दुनिया में और नेकी आख़िरत में और बचा हमको दोज़ख़ की आग से।

अगर यह याद न हो तीन मर्तबा यह पढ़ें

अल्लाहुम्मग् फिर् लना० 

नोटः लकिन दुआएँ कुनूत याद करने कि कोशिश करते रहे। (मुतर्जिम)

यह सामग्री “नमाज़ का तरीक़ा” ऐप से ली गई है आप यह एंड्रॉइड ऐप और आईओएस(आईफोन/आईपैड) ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। हमारे अन्य इस्लामिक एंड्रॉइड ऐप और आईओएस ऐप देखें।

नमाज़ का तरीक़ा
Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published.