नमाज़ के फ़र्ज़

namaz-ke-farz

नमाज़ के फ़र्ज़

नमाज़ के फ़र्ज़

  • वजू या गुस्ल
  • पाक कपड़े
  • पाक जगह
  • सतर छिपाना
  • नमाज़ का वक़्त
  • क़िब्ले की तरफ़ रुख
  • नीयत
  • नमाज़ शुरू करते हुए तक्बीरे तहरीमा ‘अल्लाहु अकबर’

नमाज़ में

  • खड़े होना

  • किरात यानी कुरआन मजीद में से कुछ पढ़ना

  • रुकूअ

  • दोनों सज्दे

  • नमाज़ के आखिर में अत्तहीयात पढ़ने के लिए बैठना

नमाज़ के वाजिब

नमाज़ में

  • फ़र्ज़ नमाज़ों की पहली दो रक्अतों में किरात

  • फ़र्ज़ नमाज़ों की हर रक्त में सूर: फ़ातिहा पढ़ना

  • फ़र्ज़ नमाज़ों की पहली दो रक्अतों में, वाजिब, सुन्नत और नफ़ल नमाज़ों की हर रक्त में सूर: फ़ातिहा के बाद कुरआन मजीद की कोई आयत या सूर: पढ़ना

  • सूर: फ़ातिहा किसी और सूरः से पहले पढ़ना

  • तर्तीब कायम रखना

  • रुकूअ कर के सीधा खड़ा होना

  • पहला सज्दा करके दुसरे सज्दे से पहले कुछ देर बैठना

  • नमाज़ अहिस्ता और अच्छी तरह अदा करना

  • दो रक्अत पढ़ कर अत्तहीयात के लिए बैठना

यह सामग्री “नमाज़ का तरीक़ा” ऐप से ली गई है आप यह एंड्रॉइड ऐप और आईओएस(आईफोन/आईपैड) ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। हमारे अन्य इस्लामिक एंड्रॉइड ऐप और आईओएस ऐप देखें।

नमाज़ का तरीक़ा
Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published.