Surah Al-Maun in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-माऊन

यह सूरह मक्की है, इस में 7 आयते हैं। इस सरह की अन्तिम आयत में माऊन शब्द आने के कारण इस का यह नाम रखा गया है। जिस का अर्थ है लोगों को देने की साधारण आवश्यक्ता की चीजें

सूरह अल-माऊन हिन्दी में

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम

  1. अ-रऐतल्लज़ी युकज्जिबु बिद्दीन
  2. फ़ज़ालिकल्लज़ी यदु अल्-यतीम
  3. वला यहुज्जु अला तआमिल मिस्कीन
  4. फवैलुल् लिल्-मुसल्लीन
  5. अल्लज़ी-न हुम अन् सलातिहिम् साहून
  6. अल्लज़ी-न हुम् युराऊ-न
  7. व यम नऊनल माऊन

हिंदी अनुवाद के साथ सूरह अल-माऊन

बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम
अल्लाह के नाम से, जो अत्यन्त कृपाशील तथा दयावान् है।

  1. अ-रऐतल्लज़ी युकज्जिबु बिद्दीन
    ( हे नबी!) क्या तुमने उसे देखा, जो प्रतिकार (बदले) के दिन को झुठलाता है?
  2. फ़ज़ालिकल्लज़ी यदु अल्-यतीम
    यही वह है, जो अनाथ (यतीम) को धक्का देता है।
  3. वला यहुज्जु अला तआमिल मिस्कीन
    और ग़रीब को भोजन देने पर नहीं उभारता।
  4. फवैलुल् लिल्-मुसल्लीन
    विनाश है उन नमाज़ियों के लिए
  5. अल्लज़ी-न हुम अन् सलातिहिम् साहून
    जो अपनी नमाज़ से अचेत हैं।
  6. अल्लज़ी-न हुम् युराऊ-न
    और जो दिखावे (आडंबर) के लिए करते हैं।
  7. व यम नऊनल माऊन
    तथा माऊन (प्रयोग में आने वाली मामूली चीज़) भी माँगने से नहीं देते।

Surah Al-Maun in English

Bismillaahir Rahmaanir Raheem

  1. Ara ‘aytal lazee yukazzibu biddeen
  2. Fazaalikal lazee yadu’ul-yateem
  3. Wa la yahuddu ‘alaa ta’aamil miskeen
  4. Fa wailul-lil musalleen
  5. Allazeena hum ‘an salaatihim saahoon
  6. Allazeena hum yuraaa’oon
  7. Wa yamna’oonal maa’oon

Surah Al-Maun English Translation

In the name of Allah, Most Gracious, Most Merciful.

  1. Seest thou one who denies the Judgment (to come)?
  2. Then such is the (man) who repulses the orphan (with harshness),
  3. And encourages not the feeding of the indigent.
  4. So woe to the worshippers
  5. Who are neglectful of their prayers,
  6. Those who (want but) to be seen (of men),
  7. But refuse (to supply) (even) neighbourly needs.
Share this:
error: Content is protected !!