Surah Al-Alaq in Hindi

Surah Al-Alaq in Hindi

सूरह अल-अलक हिन्दी में​​: सूरा अल-अलक़ इस्लाम के पवित्र ग्रन्थ कुरआन का 96 वां सूरा है। इसमें 19 आयतें हैं। It is sometimes also known as Surat Iqrā.

Surah Al-Qadr in Hindi

Surah Al-Qadr in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-कद्र​: यह सूरह मक्की है, इस में 5 आयतें हैं। सूरह अल-कद्र का मतलब नसीब है। अल-क़द्र की अवधारणा है कि अल्लाह सब कुछ जानता है और जो कुछ…

Surah Al-Bayyinah in Hindi

Surah Al-Bayyinah in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-बय्यिना​​: सूरह अल-बय्यिना में कुल 8 आयतें हैं। सूरह अल-बय्यिना का मतलब स्पष्ट सबूत है। सूरह बय्यिना कुरान पाक के 30 वे पारे में मौजूद है।

Surah Al-Zilzal in Hindi

Surah Al-Zilzal in Hindi

हिन्दी में सूरह अज़-ज़ल्ज़ला​: सूरह अज़-ज़ल्ज़ला मक्के में नाजिल हुई। इसमें 8 आयतें है और 1 रूकू है। बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीमइज़ा ज़ुल ज़िलतिल अरजु…

Surah Al-Adiyat in Hindi

Surah Al-Adiyat in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-आदियात​: सूरह अल-आदियात मक्के में नाजिल हुई। इसमें 11 आयतें हैं। अल्लाह ने इंसान को एक घोड़े से तुलना दे कर इंसानी जात को ये बताया है…

Surah Al-Qari’ah in Hindi

Surah Al-Qari'ah in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-क़ारिअह​​: सूरह अल-क़ारिअह मक्का में नाजिल हुई। इसमें 11 आयतें हैं। इस सूरह में अल्लाह ने कयामत की हौलनाकी के बारे में और लोगों के अमाल के हिसाब किताब के बारे में बताया किया है।

Surah At-Takathur in Hindi

Surah At-Takathur in Hindi

हिन्दी में सूरह अत-तकासुर​: तकासुर का अर्थ है किसी भी चीज़ की ज़्यादती की ख्वाहिश और चाहत रखना। चाहे माल हो, दौलत हो, औलाद हो, ओहदे और शोहरत में हो। जिस…

Surah Al-Asr in Hindi

Surah Al-Asr in Hindi

सूरह अल-अस्र हिन्दी में​: इस सूरत में 3 आयतें हैं और 1 रुकु हैं। ये सूरत मक्के के शुरुआती दौर में नाजिल हुई जब सारे मुल्क में जुल्म बरपा हुआ था। आखिरत…

Surah Al-Humazah in Hindi

Surah Al-Humazah in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-हुमज़ह​: यह सूरह मक्की है, जिसमें 9 आयतें हैं। इस का नाम सूरह हुमज़ह है। इस की प्रथम आयत में यह शब्द आया है इस का अर्थ है: व्यंग करना।

Surah Al-Fil in Hindi

Surah Al-Fil in Hindi

हिन्दी में सूरह अल-फ़ील​: यह सूरह मक्की है, इस में 5 आयतें हैं। इस सूरह में फ़ील शब्द का अर्थ हाथी है। The surah is written in the interrogative form.

error: Content is protected !!