खाने और पीने के आदाब

khane-or-peene-ke-adaab

खाने और पीने के आदाब

खाने के आदाब

  • दस्तरख्वान बिछाना 

  • दोनों हाथ गट्टों तक धोना 

  • बिस्मिल्लाह पढ़ना

  • सीधे हाथ से खाना 

  • खाना एक किस्म का हो तो अपने सामने से खाना 

  • अगर कोई लुक्मा गिर जाए तो उठाकर साफ़ करके खाना 

  • टेक लगाकर न खाना 

  • खाने में कोई ऐब न निकालना 

  • खाते वक्त उकडू बैठना या एक घटना खड़ा हो और दूसरे घुटने को बिछाकर उस पर बैठना या दोनों घुटने ज़मीन पर बिछाकर कआदे की तरह बैठे और आगे की तरफ़ ज़रा झुक कर बैठे

  • खाने के बाद बर्तन और उंगलियों को साफ़ कर लेना 

  • तीन उंगलियों से खाना 

  • अगर शुरू में बिस्मिल्लाह पढ़नी भूल जाएं तो ‘बिस्मिल्लाहि अव्-व-लहु व आख़िरहू.’ पढ़ना

  • खाने के बाद की दुआ पढ़ना ‘अल्हम्दु लिल्ला-हिल्लज़ी अत्-अ-मना व सक़ा-ना व-ज अ-ल-न मि-नल् मुस्लिमीन.’

tea cup, vintage tea cup, tea-2107599.jpg

पीने के आदाब

  • सीधे हाथ से पीना।

  • बैठकर पीना।

  • ‘बिस्मिल्लाह’ कहकर पीना ‘अल्हम्दु लिल्लाह’ कहना।

  • तीन साँस में पीना।

  • बर्तन के टूटे हुए किनारे की तरफ से न पीना।

  • दूध पीने के बाद यह दुआ पढ़ना ‘अल्लाहुम्-म बारिक लना फ़ीहि वज़िद-ना मिन्हु’

  • ज़म-ज़म का पानी खड़े होकर पीना।

  • वुजू से बचा हुआ पानी खड़े होकर पीना।

यह सामग्री “नमाज़ का तरीक़ा” ऐप से ली गई है आप यह एंड्रॉइड ऐप और आईओएस(आईफोन/आईपैड) ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। हमारे अन्य इस्लामिक एंड्रॉइड ऐप और आईओएस ऐप देखें।

नमाज़ का तरीक़ा
Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published.